दैनिक भास्कर के मुताबिक गुरुग्राम स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास के सात वर्षीय बच्चे की हत्या के बाद दूसरे छात्रों के अभिभावकों ने विरोध प्रदर्शन किया.

बच्चे के पिता 15 मिनट पहले ही बच्चे को स्कूल में छोड़कर गए थे. उन्होंने सवाल किया, “अब अभिभावक 8 घंटे अपने बच्चे को किसके भरोसे छोड़ेंगे. कोई मुझे ये बताए.’

देर रात गुरुग्राम के डीसीपी ने समाचार एजेंसी से कहा, “स्कूल बस के कंडक्टर अशोक कुमार ने बच्चे के साथ यौन शोषण की कोशिश की. जब बच्चे ने चिल्लाने की कोशिश की तो कंडक्टर ने उसकी हत्या कर दी.

गोरखपुर: अस्पताल में 30 बच्चों की मौत

इस मामले में कंडक्टर समेत 11 लोगों से पूछताछ की गई थी. बच्चे का शव सुबह स्कूल के टॉयलेट में मिला था.

अस्पतालजनसत्ता ने लिखा है कि उत्तर प्रदेश और झारखंड के बाद अब महाराष्ट्र के नासिक सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत का मामला सामने आया है.अस्पताल के विशेष शिशु देखभाल खंड में पिछले महीने (अगस्त में) 55 शिशुओं की मौत हो गयी. उधर प्रशासन ने चिकित्सकीय लापरवाही से बच्चों की मौत होने से इनकार किया है.

नासिक के सिविल सर्जन सुरेश जगदले ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि अप्रैल के बाद से खंड में 187 शिशुओं की मौत हुयी लेकिन अगस्त महीने में 55 शिशुओं की जान चली गई.

जगदले ने सफाई देते हुए कहा, ”इनमें से अधिकतर मौतें निजी अस्पतालों से शिशुओं को अंतिम स्थिति में लाए जाने के कारण हुईं और उनके बचने की गुंजाइश बहुत कम थी. समय पूर्व जन्म और श्वसन तंत्र कमजोरी के कारण भी मौतें हुईं.”

सिविल सर्जन ने कहा कि किसी भी मामले में चिकित्सकीय लापरवाही नहीं हुई.

विमानइमेज कॉपीरइटAFP

जनसत्ता ने लिखा है कि अब हवाई यात्रा के दौरान अभद्र व्यवहार करने वाले यात्रियों पर तीन महीने से लेकर पूरी उम्र तक का उड़ान प्रतिबंध लगाया जाएगा.

सरकार ने शुक्रवार को इसकी घोषणा की. नागरिक विमानन मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि मंत्रालय ने अभद्र व्यवहार करने वाले यात्रियों की तीन श्रेणियों की सिफारिश की है जिनमें अलग-अलग अवधि वाला उड़ान प्रतिबंध होगा.

अभद्र व्यवहार की पहली श्रेणी के तहत मौखिक रूप से उत्पीड़न करने का मामला आएगा और इसके लिए तीन महीने का उड़ान प्रतिबंध होगा. दूसरी श्रेणी के तहत शारीरिक रूप से दुर्व्यवहार करने का मामला आएगा जिसमें छह महीने का उड़ान प्रतिबंध होगा.

जबकि तीसरी श्रेणी के तहत जानलेवा व्यवहार आएगा और इसमें दो साल या बिना किसी सीमा के इससे अधिक अवधि का प्रतिबंध होगा.

मोदी और आबेइमेज कॉपीरइटREUTERS

इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान के प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे की मेज़बानी राजधानी दिल्ली के बजाय गुजरात की राजधानी गांधीनगर में करेंगे.

सूत्रों ने बताया है कि 14 सितंबर को दोनों ने बीच गांधीनगर में द्वीपक्षीय बातचीत होगी. ये दूसरी बार है कि मोदी किसी विदेशी नेता से गांधीनगर में द्वीपक्षीय वार्ता करने जा रहे हैं.

किस भारत के लिए मोदी ला रहे हैं बुलेट ट्रेन?

जापानी पीएम के साथ बुलेट ट्रेन में नरेंद्र मोदीइमेज कॉपीरइटTWITTER
Image captionजापानी पीएम के साथ बुलेट ट्रेन में नरेंद्र मोदी

इससे पहले साल 2014 में सितंबर में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मेज़बानी मोदी ने गांधीनगर में की थी.

गौर करने वाली बात ये है कि जापान ही अकेला ऐसा देश था जिसने डोकलाम में भारत-चीन तनाव के बीच भारत का साथ दिया था.

तीन साल पहले जब चुमार को लेकर तनाव चल रहा था तब साबरमति नदी के किनारे शी जिनपिंग से मुलाकात की थी.

लेफ्टिनेंट जनरल क़मर जावेद बाजवाइमेज कॉपीरइटAFP

टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने लिखा है कि पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष लेफ्टिनेंट जनरल क़मर जावेद बाजवा ने कश्मीर विवाद को राजनीतिक और कूटनीतिक रास्ते से सुलझाने की अपील की है.

उनकी ये अपील पाकिस्तान सेना के कश्मीर मसले पर अमूमन रहे पक्ष से हटकर है.

बाजवा का बयान वार्षिक रक्षा दिवस पर उनके संबोधन में आय़ा, इससे दो दिन पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ़ ने पहली बार माना था कि अंतरराष्ट्रीय चरमपंथी संगठन माने जाने वाले लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान से काम कर रहे हैं.

कौन हैं जनरल क़मर जावेद बाजवा?

समृद्धि के लिए शांति ज़रूरी है ये कहते हुए बाजवा ने कहा कि दोनों देशों के लाखों लोगों की भलाई स्थाई शांति से जुड़ी है. पाकिस्तान का आपमान करने और कश्मीर पर बल प्रयोग करने के बजाय, ये भारत के हक़ में होगा कि वो विवाद का कूटनीतिक और राजनीतिक रास्ते से हल निकाले.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *